Home अपराध बदमाशों ने नाबालिग छात्रा की हत्या की, 36 घंटे बाद मिला शव,...

बदमाशों ने नाबालिग छात्रा की हत्या की, 36 घंटे बाद मिला शव, गैंगरेप की आशंका

12

बिहार के बेगूसराय जिले के सहायक थाना गढ़हरा क्षेत्र के कील मोहल्ले की एक छात्रा की लाश रविवार की सुबह गढ़हरा रेलवे यार्ड के पास मिलने से आसपास के गांवों में सनसनी फैल गई। बताया गया है कि दो दिन पहले विवाह समारोह में शामिल होने गई नवम की उक्त छात्रा रास्ते से गायब हो गई थी। स्थानीय लोग सामूहिक दुष्कर्म के बाद साक्ष्य मिटाने के लिए पत्थर से सिर कुचल हत्या कर दिए जाने की आशंका जता रहे हैं। हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों व परिजनों ने लाश सड़क पर रख बरौनी-गढ़हरा-सिमरिया पथ को जाम कर आवागमन ठप कर दिया।

रविवार की सुबह मुसहरी के पास रेलवे यार्ड स्थित गड्ढे में एक लड़की की लाश मिलने की खबर फैल गयी। उक्त लाश की पहचान बीहट नगर परिषद के गढ़हरा कील वार्ड संख्या 13 निवासी ललन साह की 13 वर्षीया नाबालिग पुत्री सपना कुमारी के रूप में हुई।

घटना की सूचना पाकर बरौनी के पुलिस इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार सिंह, गढ़हरा ओपी प्रभारी मो. मेराज अहमद, चकिया ओपी अध्यक्ष राकेश गुप्ता, एफसीआई पुलिस, पूर्व मुखिया गोपीनाथ साह आदि वहां पहुंचे। इसके अलावा कील गढ़हरा समेत आसपास के सैकड़ों लोग घटनास्थल पहुंचे। आक्रोशित लोगों ने बरौनी-गढ़हरा-सिमरिया मुख्य लिंक पथ को लाश के साथ करीब डेढ़ घंटे जाम कर दिया। लोग हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। पुलिस प्रशासन ने आश्वासन दिया कि हत्यारे बहुत जल्द पकड़े जाएंगे। इसके बाद लोगों ने लाश को पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए बेगूसराय भेज दिया।
16 अप्रैल की शाम से गायब थी छात्रा, 36 घंटे बाद मिला शव
जानकारी के अनुसार मोहल्ले में एक शादी के पूर्व चुमावन मटकोर विधि में महिलाओं के समूह में भी सपना शामिल थी। अचानक वह रास्ते में भीड़ से गायब हो गयी। रातभर परिजनों के द्वारा खूब खोजबीन करने के बावबजूद वह नहीं मिली। परिजन ने इसकी सूचना थाना पुलिस को दी। 17 अप्रैल को पीड़ित पिता ललन साह ने अज्ञात के विरुद्ध अपहरण करने की एफआईआर दर्ज करायी। इस बीच लगातार छात्रा की खोजबीन की जाती रही।

रविवार की सुबह शव मिलने से परिजनों में कोहराम मच गया। लोगों ने आशंका जतायी है कि पहले छात्रा के साथ बदमाशों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। विलंब होने पर सभी बदमाश डर गए होंगे। फंसने के डर के चलते साक्ष्य मिटाने के लिए बदमाशों ने पत्थर से सिर कुचलकर उसकी निर्मम हत्या कर दी।

गढ़हरा ओपी प्रभारी मो. मेराज अहमद ने बताया कि प्रथमदृष्टया दुष्कर्म कर पत्थर से कुचलकर हत्या करने का मामला प्रतीत हो रहा है। पोस्टमार्टम होने से सही तथ्य सामने आ जाएगा। हालांकि, उन्होंने छात्रा के शरीर पर बदमाशों द्वारा एसिड फेंके जाने की बात से इनकार किया। घटना की सूचना पाकर तेघरा विधायक रामरतन सिंह ने वहां पहुंच पीड़ित परिवार को सांत्वना दी।उन्होंने पुलिस से हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग की।

स्थानीय लोगों का कहना है कि करीब छह माह पूर्व छठ पूजा के दौरान कील में नानी घर आए दुधमुंहे बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी गयी थी। आज तक पुलिस इस घटना में शामिल लोगों की पहचान नहीं कर पाई है। इस वजह से इलाके के लोगों में पुलिस की कार्यशैली को लेकर जबरदस्त नाराजगी है। अब छात्रा का अपहरण कर हत्या कर दिए जाने की इस दूसरी घटना से लोगों में उबाल है।